“Weather: जम्मू में ठंड से छिड़ा इतिहास, रात में तापमान घटकर 2.5 डिग्री पहुंचा, कश्मीर में शीतलहर ने कसा जादू”

Kamaljeet Singh

Weather: जम्मू में ठंड ने इतिहास रच दिया है, क्योंकि शनिवार को न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री रहा, जो पिछले चार साल का रिकॉर्ड है। पहले से ही 2020 में एक जनवरी को न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री था। इस दौरान, जम्मू में ठंड का मिजाज एक हफ्ते से कश्मीर के कई जिलों से छाया हुआ है। हालांकि रविवार को दिन में धूप थी, लेकिन चुभती सर्द हवाएं ने लोगों को ठंडक महसूस कराई। उत्तर भारत में कोहरे के कारण, जम्मू में आने वाली 12 ट्रेनें देर से पहुंचीं, जबकि कोटा से आने वाली साप्ताहिक ट्रेन रद्द हो गई। इसके अलावा, पांच उड़ानें रद्द हो गईं और 11 उड़ानें भी देर से जम्मू एयरपोर्ट पर पहुंचीं।

पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी की ऊपरी सीमा तक पहुंचने में कोई कामयाबी नहीं हुई है, और मैदानी क्षेत्रों में भी बारिश का कोई संकेत नहीं है। इस कारण से जम्मू में ठंडक की ठंडक महसूस हो रही है, जिससे न्यूनतम तापमान सामान्य से 4.5 डिग्री नीचे गिरकर 2.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। इस दौरान अधिकतम तापमान भी 8.9 डिग्री सेल्सियस रहा है, जो सामान्य से 9 डिग्री कम है। इसका मतलब है कि जम्मू का अधिकतम तापमान अब पहलगाम (12.6), कोकेरनाग (13.4), कुपवाड़ा (14.8), काजीगुंड (14.8), और श्रीनगर (14.6 डिग्री सेल्सियस) से भी कम है।

प्रदेश में रविवार को सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान राजोरी में दर्ज किया गया जो 22.2 डिग्री सेल्सियस था। उधमपुर में भी तापमान उच्च रहा और 22.1 डिग्री सेल्सियस को पहुंचा। बनिहाल में भी अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री सेल्सियस था, जो सामान्य से 10.5 डिग्री अधिक है। कटड़ा में तापमान 20.9 डिग्री रहा, जबकि भद्रवाह में 18.4 डिग्री सेल्सियस थी।

Weather

Weather: कश्मीर फिर शीतलहर की चपेट में

कश्मीर वापस सर्दी की जड़ों में फंसा हुआ है, क्योंकि शनिवार को थोड़ी राहत के बाद रविवार को फिर से शीतलहर ने अपनी गहरी चपेट में ले लिया है। श्रीनगर शहर में शनिवार रात को न्यूनतम तापमान शून्य से 4.2 डिग्री सेल्सियस के नीचे गिरा, जोकि शुक्रवार की तुलना में 0.2 डिग्री सेल्सियस से 4.4 डिग्री कम है।

Weather: ये ट्रेनें और उड़ानें प्रभावित

रविवार को पूजा एक्सप्रेस, मालवा और झेलम, मूरी और एमसीटीएम सुपरफास्ट, सूर्योदय, शालामार, उत्तर संपर्क क्रांति, और अमरनाथ ये सभी ट्रेनें देर से जम्मू पहुंचीं। इनमें से पूजा ट्रेन 17 मिनट, मालवा और झेलम 10 मिनट, और मूरी और एमसीटीएम सुपरफास्ट 12 मिनट की देरी से पहुंचीं। सूर्योदय, शालामार, उत्तर संपर्क क्रांति, और अमरनाथ भी 5 मिनट से देर से आईं। वहीं, पूजा ट्रेन 8:45 मिनट की देरी से रवाना हुई।

इसके अलावा, लेह से दो, दिल्ली से दो, और श्रीनगर से एक उड़ान रद्द कर दी गई। जबकि लेह से एक, दिल्ली से चार, अहमदाबाद से एक, श्रीनगर से तीन, मुंबई से एक, और इंदौर से एक फ्लाइट देरी से जम्मू पहुंचीं।

Weather: कहां कितना न्यूनतम पारा (डिग्री सेल्सियस में)

1. पहलगाम: -5.5 डिग्री सेल्सियस
2. श्रीनगर: -4.2 डिग्री सेल्सियस
3. काजीगुंड: -4.0 डिग्री सेल्सियस
4. गुलमर्ग: -1.2 डिग्री सेल्सियस
5. भद्रवाह: -1.1 डिग्री सेल्सियस
6. कटड़ा: 3.9 डिग्री सेल्सियस

इन स्थानों में ठंडक बहुत ही अधिक है, और लोग विभिन्न तरीकों से इसे सहन कर रहे हैं। यहां का मौसम अत्यंत शीतल है, और लोग गर्म कपड़ों में लिपटे हुए घरों से बाहर निकलने से बच रहे हैं।

Weather: पिछले चार साल में जम्मू का सबसे कम तापमान

– 2020 में, एक जनवरी को तापमान सिर्फ 2.6 डिग्री सेल्सियस था, जिसने सभी को ठंडक महसूस कराई।

– 2021 में, एक जनवरी ने जम्मू को 4.2 डिग्री सेल्सियस के साथ शीतलता का अहसास कराया।

– 2022 में, 28 जनवरी को तापमान 4.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा, जिससे लोगों को सर्दी का मिजाज महसूस हुआ।

– 2023 में, 5 जनवरी ने जम्मू को एक नये साल के साथ ही 3.0 डिग्री सेल्सियस के साथ ठंडक का तोहफा दिया।

इन चार वर्षों में, जम्मू ने अपनी सबसे ठंडी दिनों की रिकॉर्ड बना ली है।

Weather

Weather: 8वीं तक के छात्रों के लिए शीतकालीन छुट्टियां 17 जनवरी तक बढ़ा दी गईं

जब भी घने कोहरे और कड़ाके की ठंड से जूझना पड़ता है, विद्यार्थियों के लिए छुट्टियां होना अत्यंत आवश्यक है। इसी दिशा में, जम्मू संभाग के समर जोन में स्थित सभी स्कूलों ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। अब, आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए सर्दी की छुट्टियां 17 जनवरी तक बढ़ा दी गई हैं।

इसका अर्थ है कि सभी आठवीं तक के विद्यार्थी 18 जनवरी को स्कूल वापस जाएंगे। हालांकि, नौवीं से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को सोमवार को ही स्कूल जाना होगा। यहां एक और महत्वपूर्ण बदलाव हुआ है – अब स्कूल का समय सुबह 11 बजे से शुरू होगा और छात्रों को दोपहर तीन बजे तक पढ़ाई करने का अवसर मिलेगा। यह निर्णय पहले 15 जनवरी तक के लिए था, लेकिन बदलते मौसम की मजबूरी के कारण इसे फिर से 17 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है। इससे छात्रों को सुरक्षित स्कूल पहुंचने में मदद मिलेगी और उन्हें अत्यधिक ठंड से बचाया जा सकेगा।

 

Mahindra Scorpio-N के अंदर आपको मिल रह हैं अनोखे फीचर्स, जानिए इसकी आधी कीमत के बारे में।

Share This Article
Leave a comment