“Sachin Tendulkar Deepfake: डीपफेक ने भी सचिन तेंदुलकर को नहीं छोड़ा, फैंस से हुई अपील, तकनीक को सावधानी से इस्तेमाल करें!”

Kamaljeet Singh

Sachin Tendulkar Deepfake: ‘क्रिकेट के भगवान’ सचिन तेंदुलकर को भी उन लोगों की श्रेणी में देखा जा रहा है जिन्होंने डीपफेक( Deepfake) वीडियो के शिकार होने का सामना किया है। एक ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें सचिन तेंदुलकर को एक गेमिंग एप्लिकेशन का प्रचार करते हुए दिखाया जा रहा है। इस वीडियो में सचिन को नहीं सिर्फ एप्लिकेशन के प्रचार में देखा जा रहा है, बल्कि उसमें एक झूठा दावा भी है कि उनकी बेटी सारा उस एप्लिकेशन से वित्तीय लाभ उठा रही हैं।

‘मास्टर ब्लास्टर’ ने हाल ही में सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने तकनीक के दुरुपयोग को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया हैंडल ‘एक्स’ (पहले ट्विटर) पर अपने फैंस और अन्य सोशल मीडिया हैंडल्स से सतर्क रहने की अपील की है और गलत सूचना को फैलाने के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की मांग की है।

सचिन ने एक Deepfake वीडियो को साझा करते समय यह दावा किया है कि यह वीडियो झूठा है। उन्होंने कहा कि इस तकनीकी दुरुपयोग को देखना बहुतें लोगों को परेशान कर सकता है। सभी से अपील की गई है कि वे इस फर्जी वीडियो, विज्ञापन और एप्लिकेशन की रिपोर्ट करें। सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स को सतर्क रहने और उत्तरदाता होने की जरूरत है ताकि गलत सूचना और डीपफेक्स का प्रसार रोका जा सके। उन्होंने कहा कि इस पर त्वरित कार्रवाई करना महत्वपूर्ण है।

Sachin Tendulkar Deepfake: डीपफेक तकनीक क्या है?

Deepfake तकनीक, जिसे हम ‘सिंथेटिक मीडिया’ या ‘डॉक्टर्ड फोटो-वीडियो’ भी कह सकते हैं, एक ऐसी तकनीक है जिसका उपयोग कृत्रिम बुद्धिमत्ता या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) से किया जाता है ताकि फोटो और वीडियो को असली लगने वाला बनाया जा सके। इसे उपयोग करके व्यक्तिगत या सार्वजनिक छवियों और वीडियो को बना सकते हैं जो वास्तविकता में कभी हो ही नहीं थे।

यह तकनीक साइबर अपराधियों के लिए एक सुरक्षा खतरा उत्पन्न करती है, क्योंकि इसका उपयोग किसी की पहचान को नकल करने, या फिर गलत संदेश फैलाने के लिए किया जा सकता है। यह व्यक्तियों, कंपनियों, और सरकारों के लिए एक नई प्रकार की सावधानीपूर्णता की आवश्यकता बना रहा है। इससे नुकसान हो सकता है, और यह सच्चाई और भ्रांति के बीच भ्रांति पैदा करने का एक नया तरीका हो सकता है। इसलिए, हमें सावधान रहना और तकनीकी सुरक्षा में सुधार करने की जरूरत है ताकि हम इस नए चुनौती का सामना कर सकें और अपनी व्यक्तिगत और सार्वजनिक सुरक्षा को पूरा यक़ीन कर सकें।

Sachin Tendulkar Deepfake

सोशल मीडिया का इस्तेमाल बड़ी तेजी से हो रहा है, लेकिन इसके साथ ही डीपफेक वीडियोज से होने वाला खतरा भी बढ़ता जा रहा है। इस तकनीकी माध्यम से व्यक्तियों की शक्ति बड़ी है, लेकिन जब यह गलत रूप में प्रयोग होता है, तो यह समाज में हानिकारक हो सकता है। तेंदुलकर के मामले का एक नजर डालें, तो हम देखें कि यह कोई नया मुद्दा नहीं है। सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर समेत कई बड़े नामों ने इस तकनीक के दुष्प्रभाव का सामना किया है। कई दिग्गज अभिनेत्रियों जैसे कटरीना कैफ, आलिया भट्ट, और प्रियंका चोपड़ा भी इस तकनीक के खिलाफ बचपने में नहीं रहीं। सोशल मीडिया पर अपनी जगह बनाने के लिए यह अवश्य जरूरी है कि हम इसका सही तरीके से उपयोग करें और ध्यान रखें कि डीपफेक जैसे खतरे से बचाव करें।

Bigg Boss 17: नाज़िला सीताशी ने खोले मुन्नवर को लेकर कई राज़, कहा – मुन्नवर हमेशा जूथ बोलता हैं।

Share This Article
Leave a comment