“Ram Mandir: भक्ति के सागर में मिलेगा एकता का संगम, रावण मंदिर में राम-लीला की अनोखी भूमिका!”

नोएडा के बिसरख में बन रहे लंकापति रावण के मंदिर में अब प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी शुरू हो गई है। यहां पर अखंड रामायण पठन होगा और मंदिर में ही राम दरबार की मूर्ति रखी जाएगी। इसके अलावा, मंदिर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन भी होगा। सभी तैयारियां तेजी से हो रही हैं और इसके लिए समर्थन बढ़ रहा है।

Kamaljeet Singh

Ram Mandir: 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। इसी मौके पर नोएडा के बिसरख क्षेत्र में एक मंदिर भी है, जो लंका के राजा रावण को समर्पित है। स्थानीय कथाओं के अनुसार, बिसरख ही रावण का जन्म स्थान है। इस मंदिर में भी जय श्रीराम के जयकार सुने जाएंगे।

बिसरख में एक मंदिर है, जिसमें रावण की मूर्ति है, और वहां भगवान शिव, पार्वती, और कुबेर की भी मूर्तियां हैं। मंदिर के पुजारी महंत रामदास ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन मंदिर में विभिन्न कार्यक्रम होंगे, और उनकी तैयारी बहुत धूमधाम से हो रही है।

मंदिर में 14 जनवरी से धार्मिक कार्यक्रम शुरू हो रहा है। इसमें अखंड रामायण और सुंदरकांड जैसे धार्मिक गाने गाए जाएंगे। इसके बाद एक भंडारा भी होगा, जिसमें अधिक से अधिक लोग भाग लेंगे। कार्यक्रम के अंत में हम सभी मिलकर खुशी में मिठाई बाँटेंगे।

महंत ने कहा कि गांववाले इस आयोजन के लिए बहुत उत्साहित हैं और वह खुश हैं क्योंकि रावण की जन्मस्थली बिसरख में हो रहा है। उन्होंने कहा कि रावण का जन्म होना भी जरूरी था क्योंकि अगर रावण नहीं होता, तो राम भी नहीं होते।

अगर भगवान राम को अवतार नहीं लेना होता तो किसी को रावण के बारे में पता नहीं चलता। दोनों ही एक दूसरे के पूरक हैं। महंत ने बताया कि इस मंदिर को रात में भी बंद नहीं किया जाता है। यहां आने वाले भक्त भगवान शिव, कुबेर, और यहां तक कि रावण की भी पूजा करते हैं।

Ram Mandir: राम और रावण एक ही मंदिर में विराजेंगे

बिसरख के प्राचीन रावण मंदिर में एक नई घड़ी आ रही है, जहां राम और रावण एक ही स्थान पर विराजित होंगे। मंदिर के महंत ने बताया है कि 22 जनवरी को राम दरबार की प्राण प्रतिष्ठा होगी। यहां राम, सीता, लक्ष्मण, और हनुमान की मूर्तियाँ स्थापित की जाएंगी। तैयारी में हैं और मंदिर में भगवान शिव की अष्टभुजी मूर्ति भी है। इसका अनुसरण करते हुए कहा जा रहा है कि रावण ने भी इसी मंदिर में शिव की पूजा की थी, लेकिन अब यहां राम भी आएंगे।

Ram Mandir

Ram Mandir: मंदिर को विशेष रूप से सजाया जा रहा

रावण मंदिर को बड़े शौक से सजाया जा रहा है, क्योंकि वहां प्राण प्रतिष्ठा होने वाली है। 10 क्विंटल से अधिक फूल कोलकाता से लाए गए हैं और मंदिर को रंग-बिरंगी झालरें सजाने का काम भी चल रहा है। स्थानीय लोग भी इस आयोजन में सहयोग कर रहे हैं। गाँववालों का कहना है कि यह मंदिर विशेष है क्योंकि यहां रावण की पूजा होती है और रावण का नाम सुनते ही उनके मन में राम की छवि आ जाती है। इसी दिन अयोध्या में एक शानदार उत्सव भी होगा।

Ram Mandir: मिट्टी के दीयों से लिखा जाएगा जय श्री राम, जगमगाएंगे घर, दरवाजे और मंदिर

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, हिंदू युवा वाहिनी और अन्य हिंदू संगठनें मिलकर 22 जनवरी को राम लला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन करेंगी। इस अवसर पर, हर घर में दीपक जलाए जाएंगे और शहर के सभी मंदिरों में 11 हजार तक मिट्टी के दीपक रखे जाएंगे। लोग अपने घरों के मुख्य गेट पर “जय श्रीराम” लिखकर अपने आराध्य का स्वागत करेंगे। इस अद्भुत क्षण को यादगार बनाने के लिए सभी तैयार हैं।

सेक्टर गामा-1 में स्थित श्री गौरी शंकर मंदिर के पुजारी आनंद द्विवेदी ने बताया कि 21 जनवरी को अखंड रामायण पाठ का आयोजन किया जाएगा। 22 जनवरी को हवन यज्ञ और भंडारे का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि अल्फा-1 में स्थित शिव मंदिर के पुजारी प्रकाश शास्त्री ने सुंदरकांड के पाठ का आयोजन किया जाएगा। हवन सुबह 10 बजे होगा और शाम को 11 हजार दीए जलाए जाएंगे। इसी तरह, बीटा-1 मंदिर में भी 11 हजार दीए जलाए जाएंगे।

Ram Mandir: 15 जनवरी को निकाली जाएगी जनजागरण यात्रा

15 जनवरी को विश्व हिंदू महासंघ (भारत) आपको बताएगा कि राम लला की महत्वपूर्णता को समझने के लिए एक जनजागरूक यात्रा होगी। संगठन के प्रभारी नरेश योगी ने बताया कि एच्छर, म्यू, ओमीक्रॉन वन, और फिर घोड़ी-बछेड़ा गांव में एक सभा होगी, जिससे लोगों को जागरूक किया जा सकेगा।

Jeep Wrangler में आपको जबरदस्त फीचर्स के साथ मिल रहा है डिस्काउंट। जानिए इसके दमदार इंजन के बारे में।

Share This Article
Leave a comment