“Iran Blast: ईरान का डरावना खुलसा, कासिम सुलेमानी की कब्र के पास हुए विस्फोट ने दोषियों को नरक की ओर बढ़ाया”

Kamaljeet Singh

Iran Blast: ईरान ने कासिम सुलेमानी की हत्या की सालगिरह पर उसकी कब्र के पास हुए विस्फोटों का तीखा जवाब दिया है। ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने कहा है कि उनका देश इस हमले के दोषियों को कभी नहीं माफ करेगा। उन्होंने यह भी कहा है कि इस कायरतापूर्ण हमले के पीछे जो भी लोग हैं, उन्हें जल्दी से पहचाना जाएगा और उन्हें सख्त से सख्त सजा मिलेगी। ईरानी विदेश मंत्रालय ने इस घटना को आतंकवादी हमला कहा है। ईरान ने कहा है कि वह इस हमले के दोषियों को सजा दिलाने के लिए हर संभाव प्रयास करेगा। कासिम सुलेमानी की कब्र के पास हुए विस्फोटों में अब तक कम से कम 103 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि सैकड़ों घायल हैं। घायलों में कई लोगों की हालत नाजुक है। बड़ी संख्या में ईरानी लोग आज कासिम सुलेमानी की कब्र के पास श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे।

Iran: हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है

सरकारी प्रसारक इरिब ने बताया कि करमान शहर के दक्षिणी हिस्से में स्थित साहेब अल-ज़मान मस्जिद के पास हुए जुलूस में विस्फोटों में कई लोगों को चोटें आईं। इसमें करमान के डिप्टी गवर्नर ने कहा कि यह एक “आतंकवादी हमला” था। एक वीडियो में दिखाया गया है कि सड़क पर शवों की बारिश हो रही है और एंबुलेंस घटनास्थल की ओर बढ़ रही है। यह स्पष्ट नहीं है कि विस्फोट का कारण क्या था और किस समूह के द्वारा किया गया। हालांकि, अनुसंधान के दौरान यह सुझाव दिया जा रहा है कि इसमें अरब अलगाववादियों, इस्लामिक स्टेट (आईएस) और अन्य सुन्नी जिहादी समूहों का हाथ हो सकता है। ये समूह हाल ही में ईरान में सुरक्षा बलों और शिया धर्मस्थलों पर हमले कर चुके हैं।

Iran: सुलेमानी को श्रद्धांजलि देने के लिए लोग जुटे थे

Iran

2020 में, जब अमेरिकी ड्रोन ने Iran में हमला किया और जनरल कसेम सुलेमानी को मार गिराया, तो उन्हें ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्लाह अली खामेनेई के बाद सबसे शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में देखा जाता था। सरकारी टीवी पर दिखाए गए फुटेज में दिखा गया कि जब हमले हुए, तो सैकड़ों लोग जनरल सुलेमानी के घर के बाहर इकट्ठे हो गए थे। ईरानी मीडिया ने बताया कि पहला हमला कही गया कि यह 14:50 बजे हुआ, जो कि साहेब अल-ज़मान मस्जिद के पास के एक पार्क में हुआ था। इसके बाद, लगभग 15 मिनट बाद, एक और हमला हुआ जो 1 किलोमीटर दूर के एक कब्रिस्तान के पास हुआ।

Iran: यह विस्फोट रिमोट कंट्रोल के जरिए किया गया था

रिवोल्यूशनरी गार्ड्स से जुड़ी तस्नीम समाचार एजेंसी ने बताया कि दो बैगों में बम रखकर उन्होंने रिमोट कंट्रोल के जरिए विस्फोट किया गया है, इसकी जानकारी सूत्रों से मिली है। इस्ना समाचार एजेंसी के एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “हम कब्रिस्तान की तरफ जा रहे थे, तभी एक कार ने हमें रोका और दो बैगों में बंद बमों ने विस्फोट किया। हमने बस विस्फोट की आवाज सुनी और लोगों को गिरते हुए देखा।”

सरकारी मीडिया ने स्थानीय आपातकालीन सेवा विभाग के हवाले से जानकारी दी कि इन विस्फोटों में 103 लोगों की मौके पर मौत हो गई है और 141 अन्य लोग घायल हो गए हैं। इनमें से कुछ की हालत गंभीर है, जैसा कि सूचना दी गई है।

Iran: मरने वालों में सुरक्षाकर्मी भी शामिल

Iran

Iran रेड क्रिसेंट ने कहा है कि उनके पास जानकारी है कि मृतकों में से कम से कम एक व्यक्ति को पहले विस्फोट के स्थान से बचाया गया था, और फिर दूसरे विस्फोट के हमले में जान गई। उनके द्वारा जारी किए गए फुटेज से स्पष्ट होता है कि सुलेमानी की कब्र पर कोई हानि नहीं पहुंची है। रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की विदेशी ऑपरेशन शाखा के कमांडर के रूप में, वे पूरे क्षेत्र में ईरानी नीति के प्रति समर्थ थे। उन्होंने कुद्स फोर्स की गुप्त मिशनों और सहयोगी सरकारों, हमास और हिजबुल्लाह जैसे सशस्त्र समूहों को मार्गदर्शन, धन, हथियार, खुफिया और रसद सहायता करने का कार्य किया है।

Bigg Boss17 : अनुराग ने किया मुन्नवर को रोस्ट, कहा की वो ‘नामर्द’ हैं। Revel किया इस बार का असली विनर।

TAGGED: ,
Share This Article
Leave a comment