“Hrithik Roshan का 50वां जन्मदिन: फिल्मी सफर की शुरुआत कैसे हुई ‘कहो ना प्यार है’ से?”

Kamaljeet Singh

Hrithik Roshan, बॉलीवुड के इकलौते ‘कृष’ और ‘जोधा’ के नाम से मशहूर, आज अपने 50वें जन्मदिन के मौके पर हमें अपने अनसुने किस्सों से मिलते हैं। ऋतिक ने फिल्मी सफर की शुरुआत 2000 में ‘कहो ना प्यार है’ से की थी, जिसने उन्हें एक रात में स्टार बना दिया। इसके बाद, उनकी फिटनेस और डांसिंग स्टाइल ने उन्हें दुनिया के टॉप 10 हैंडसम एक्टर्स में शामिल किया।

इस खास मौके पर हम लेकर आएं हैं वो कुछ अनसुने पल जो बनाए हैं ऋतिक को एक अनूठा सितारा। एक बार एक फैन ने ऋतिक के लिए एक खास गाना बनाया था और उसे सुनाकर ऋतिक ने उसको अपने सोशल मीडिया पर साझा किया था। यह दिखाता है कि उनके फैन्स कितने प्यार से उनके साथ जुड़े हैं।

Hrithik Roshan: पिता से इस वजह से खाना पड़ता था थप्पड़

लाखों दिलों के राजा, बॉलीवुड के इस सुपरस्टार की कहानी है कुछ ही लोगों के लिए जानी जाती है। उनका बचपन था एक ऐसे मौखिक योजना से जुड़ा हुआ, जिसने उन्हें उनके पिताजी से डांट खाने का मौका दिया। रितिक रोशन, जो बाल कलाकार बनने का सपना देख रहे थे, ने अपने जीवन की शुरुआत से ही अभिनय का शौक पाला। लेकिन एक बीमारी ने उनकी मुसीबतों को बढ़ा दिया और उन्हें अपने सपने की पूर्ति में रुकावटें आईं। वह बचपन से ही अभिनेता बनने का इरादा रखते थे, लेकिन उन्हें अपनी बीमारी के कारण कई मुश्किलें झेलनी पड़ीं।

इस रोचक यात्रा में, रितिक ने अपनी मेहनत और संघर्ष के माध्यम से अपने सपनों को हकीकत में बदला। उन्होंने दिखाया कि अगर आपका इरादा सच्चा है, तो कोई भी कठिनाई आपके रास्ते में नहीं रुक सकती। आज, यह सुपरस्टार लाखों दिलों को छू रहे हैं और उनकी कहानी हमें यह सिखाती है कि सपने पूरे करने के लिए आपको किसी भी हाल पर हार नहीं माननी चाहिए।

Hrithik Roshan: पापा भी डांटते थे

पापा भी कभी-कभी मुझे डांटते थे। सच्चाई यह है कि मेरे बचपन से ही मुझे हकलाने की समस्या थी, जिसका मैंने 2009 में फराह खान के शो ‘तेरे मेरे बीच में’ में खुलासा किया। वहां मैंने बताया कि इस समस्या का सामना मैंने 6 साल की आयु से किया था। इसके कारण मुझे स्कूल जाने में काफी कठिनाई होती थी, क्योंकि बच्चे मेरे साथ मजाक उड़ाते थे।

मेरी बीमारी के बारे में चुटकुले बनाने वाले लोगों को इसका मजाक अच्छा नहीं लगता था, और इसके बारे में पापा ने मुझसे कहा कि एक्टिंग करने के लिए स्पष्ट और सही तरीके से बोलना बहुत जरूरी है। मेरे बीच में जब मैं लाइनें बोलने का प्रयास करता, तो मुझे हकलाहट महसूस होती थी।

उस दौरान, मेरे माता-पिता ने मुझे स्पीच थेरेपी करने का सुझाव दिया। वे समझते थे कि इससे मेरी बातचीत में सुधार हो सकता है और मैं अपनी आत्मविश्वास को बढ़ा सकता हूँ। इससे मुझे नई उम्मीद मिली, और मैंने उनके साथ मिलकर इस समस्या का सामना किया।

Hrithik Roshan: 35 की उम्र तक रही बीमारी 

35 साल की उम्र तक एक बीमारी ने Hrithik Roshan को चुनौती दी, जिससे उनका एक्टिंग करियर प्रभावित हुआ। उन्होंने बताया कि इस समस्या के कारण वे फिल्मों की स्क्रिप्टों को सही से समझ नहीं पा रहे थे। लेकिन बाद में उन्होंने इसमें सुलझाव निकाला और स्पीच थेरेपी का सार्थक उपयोग करना शुरू किया। इन दिनों, हृतिक रोशन चर्चा में हैं अपनी आगामी फिल्म ‘फाइटर’ के लिए, जो 25 जनवरी को होगी रिलीज।

Hrithik Roshan

इस खास मौके पर, हम ऋतिक रोशन को उनके सफलता के सफर पर शुभकामनाएं भेजते हैं और उनके जीवन में और भी नए रंग आएं। जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं!

Dunki box office collection day 20: डंकी ने बॉक्स ऑफिस पर कमाए इतने करोड़।

Share This Article
Leave a comment