Black Marketing: हर घंटे हो रही है Human Organs की तस्करी। जानिए कैसे होती है यह काला बाज़ारी…….दाम सुन कर उड़ जायेगे होश।

Bhavuk

Black Marketing:

भारत देश में लगातार human organs की तस्करी होती रहती है।  इस काला बाज़ारी में किडनी की मांग मार्किट में सबसे जयादा होती है। बताया जा रहा है की किडनी की तस्करी बहुत ही जयादा की जाती है , इसे आग्गे बहुत ही महंगे रेट में बेच दिया जाता है। किडनी के बाद नंबर अत है , लिवर और कॉर्निया का। एक इमर्जन्सी मार्किट भी है। जिसमे ह्यूमन एग , एंब्रियो और ब्लड प्लाज्मा का भी लेनदेन है।  पूरी दुनिया में हो रही ऑर्गन ट्रांसप्लांट में सबसे बड़ा हिस्सा तस्करी का है।

Black Marketing: ऑर्गन्स का काला व्यापार

आज के समय में कुछ लोगों के अंदर से इंसानियत मर सी गई मालूम होती है।  पहले लोग अपने शौक से मौत के बाद अपने बॉडी पार्ट्स को डोनेट करते थे।  इसके पीछे मकसद था उन लोगों की जान बचाना जो अपने खराब बॉडी पार्ट्स के कारण जिंदगी से हाथ धो सकते हैं।  लेकिन धीरे-धीरे बॉडी ऑर्गन्स का काला व्यापार शुरू हो गया।  लोग अपनी जान बचाने के लिए इन ऑर्गन्स को मुंहमांगे कीमत पर खरीदने के लिए तैयार रहते हैं।  ऐसे में कुछ लोगों ने इसका धंधा ही शुरू कर दिया।

Black Marketing: इलीगल मार्केट

पहले बॉडी ऑर्गन्स उन हॉस्पिटल्स में पाया जाता था, जहां लोग इसे डोनेट करते थे।  लेकिन अब इन ऑर्गन्स का बड़ा इलीगल मार्केट बन चुका है। माफिया या तस्कर इंसानों को किडनैप कर या उनकी हत्या कर उनके ऑर्गन्स का व्यापार करते हैं। इलीगल मार्केट में हर बॉडी पार्ट की कीमत अलग लगाई गई है।  चाहे किडनी हो या लिवर, हार्ट हो या आंखों की पुतली, सब कुछ इस बाजार में बिकता है। साथ ही इनकी कीमत भी तय करके रखी गई है।  डोनेशन में मिले ऑर्गन्स फ्री होते हैं लेकिन इलीगल मार्केट में इनके लिए अच्छी खासी रकम वसूली जाती है।

Black Marketing:

Black Marketing: इलीगल है बॉडी ऑर्गन्स बेचना

दुनिया एक बहुत बड़ा सुपरमार्केट है, जहां कुछ भी बेचा जा सकता है।  इलीगल मार्केट में अगर आप अपने बॉडी के हर हिस्से को अलग अलग करके बेचते हैं, तो अरबों की कमाई कर सकते हैं।  लेकिन मेडिकल ट्रांस्क्रिप्शन के मुताबिक़, एक डेड बॉडी को अगर बेचा जाए तो 4 करोड़ 55 लाख रुपए मिल सकते हैं।  हालांकि, अमेरिका सहित हर डेवलप्ड कंट्री में ऑर्गन्स को बेचना इलीगल है।  लेकिन चोरी-चुपके ये व्यापार चल रहा है।  माफिया इससे अरबों कमा रहे हैं और धड़ल्ले से लोग इन ऑर्गन्स को खरीद भी रहे हैं।

Indian-Pakistani Marriage: सरकार के इन नए नियम की वजह से क्यों नहीं कर सकता भारत का लड़का पाकिस्तान की लड़की से शादी? ये देखिए ऐसे है कुछ नियम!

Black Marketing: ये है कीमत

अब हम आपको बताते हैं इंसानी बॉडी ऑर्गन्स की कीमत। The Medical Futuristकी रिपोर्ट के मुताबिक, इलीगल मार्केट में आपको एक गिलास खून 20 हजार रुपए में मिल जाएगा। बालों का व्यापार भी काफी फैला है। दस इंच लंबे बाल साढ़े चार हजार रुपए में मिलते हैं। इनसे काफी महंगी चीजें बनाई जाती है।  बोन मैरो भारत के इलीगल मार्केट में आपको 14 से 15 लाख में मिल जायेंगे।  यहां आपको फर्टाइल एग्स भी सेल पर मिल जाएंगे।  7 से 8 लाख में एक आईवीएफ साईकिल की फैसिलिटी मिल जाएगी।

Black Marketing:

Black Marketing: इतनी कीमत देने के लिए तैयार

भारत में सेरोगेसी के लिए 12 से 19 लाख तक की कीमत लोग देने के लिए तैयार हैं।  किडनी 10 लाख तक इल्ति है जबकि लिवर का इंतजाम भी लगभग इतने में ही हो जाता है।  दिल के लिए आपको 75 लाख से अधिक का खर्च करना पड़ेगा। जबकि आंखों की पुतली यहां साढ़े पंद्रह लाख में मिल जाएगी।  लेकिन सबसे महंगी बिकती है इंसानी खोपड़ी।  इसके लिए 19 अरब से ज्यादा रुपये खर्च करने पड़ते हैं। भारत के इलावा और कई राज्यों में 70 लाख से ऊपर तक की कीमत में बिकते है यह ऑर्गन्स।

Maruti Suzuki Ertiga 2023 की Safety को देख कर Defender ने भी छुपा लिया अपना मुंह। जानिए आखिर क्या हैं इस कार में सेफ्टी फीचर्स।

Black Marketing: क्यों हो जाते है डोनर तैयार ?

अक्सर यह लोग गरीब या जरूरतमंद होते है।  अगर तो एक किडनी या ऑर्गन से उनके शरीर पर कोई भी असर नहीं पड़ रहा है और ोंको बदले में करोड़ो रूपये मिल रहे होंगे , तो यह लोग अपना ऑर्गेन को बेचने के लिए तैयार हो जाते है। जिन लोगो की मजबूरी होती है वह लोग भी अपना ऑर्गेन को बेच देते है।  इस तरिके से फर यह लोग अग्गे जा क्र ओर्गेंस को बेच देते है और इस तरिके से करते है तस्करी।

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment